Tuesday, May 21, 2024

दिल चुरावे ना आवेला उनका-मनोज भावुक

दिल चुरावे ना आवेला उनका
गुल खिलावे ना आवेला उनका

बात के त लगा लेलें दिल से
दिल लगावे ना आवेला उनका

जान से जादा चाहेलें हमके
ई बतावे ना आवेला उनका

साध लागेला हमरो कि रुसीं
पर मनावे ना आवेला उनका

बाड़े गजबे छलक जालें कतहूं
गम छुपावे ना आवेला उनका

सब पे विश्वास कर लेलें भावुक
आजमावे ना आवेला उनका

परिचय:  मनोज भावुक जी भोजपुरी इंडस्ट्रीज़ मे परिचय के मोहताज नहीं है। 02 जनवरी 1976 को सिवान जिले मे पैदा हुए। मनोज भावुक का भोजपुरी गजल संग्रह “तस्वीर ज़िंदगी के” और भोजपुरी दोहा व गीत संग्रह “चलनी मे पानी” है।  यहाँ प्रकाशित गजल मनोज भावुक की लिखी हुई है। साइट पर प्रकाशित कोई भी कंटेन्ट अगर आपके कॉपीराइट का उलंघन करता है तो हमें info@lallanbhojpuri.com पर मेल करें, हम उसे 24 घंटे के अंदर अपने प्लेटफार्म से हटा देंगे। 

टटका टटका

इहों पढ़ल जाव