Tuesday, May 21, 2024

सीता के परिक्षा बाकी बा

राजीव कुमार भोजपुरी के जाने माने कवि हैं

वनवास राम के कट गइल
सीता के परिक्षा बाकी बा
हे अवध के राजा अजुवो ले
माई के समस्या बाकी बा

जे दुख में तहरे साथ रहल
जे हर रस्ता पर साथ चलल
ओ पतिव्रता के जंगल में
अभियो ले तपस्या बाकी बा

दुनिया के प्रेम त पा गइनी
पर ई बतलाईं राजा जी
लवकुश के जिनिगीया में काहे
पापा के सनेहिया बाकी बा

जब पति बने के बेर रहे
तब राजा रउंवा बन गइनी
हर जनम में साथ निभवला के
रउरे परतिज्ञा बाकी बा

ई प्रश्न करेजा में जब तब
हमनी के दर्द बढ़ावे ला
भगवान के मन में काहे ला
देवी पर शंका बाकी बा

जग जीत के आपन सगरो सुख
भगवान जी अइसे हरलन की
बा देह महल में पर उनके
मनवा में कुटिया बाकी बा

टटका टटका

इहों पढ़ल जाव